वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा की गई दूसरी प्रेस ब्रीफिंग में किसानों और प्रवासी कामगारों पर ध्यान केंद्रित किया गया ।

0
73

  सीतारमण ने कहा कि आज की पहल प्रवासी कामगारों, स्ट्रीट वेंडर्स, छोटे व्यापारियों, स्वरोजगार करने वाले लोगों, छोटे किसानों पर केंद्रित है। एफएम ने घोषणा की है कि 9 उपायों में-3 प्रवासी कामगारों से संबंधित हैं, 1 स्ट्रीट वेंडर्स, छोटे व्यापारियों, स्वरोजगार से जुड़े लोगों के लिए, आवास पर छोटे किसानों पर 2 3 करोड़ सीमांत किसानों ने रियायती दरों पर 4 लाख करोड़ रुपये का ऋण पहले ही ले लिया है, एफएम ब्याज छूट और 1 मार्च से देय फसल ऋण पर शीघ्र पुनर्भुगतान प्रोत्साहन को 31 मई से बढ़ाकर 31 मई तक बढ़ा दिया गया है किसानों और ग्रामीण अर्थव्यवस्था को सहायक प्रदान की गई पोस्ट-19 आत्मा निर्भर भारत पैकेज 25 लाख नए किसान क्रेडिट कार्ड स्वीकृत किए गए हैं, जिनकी ऋण सीमा 25,000 करोड़ रुपये है।

सरकार ने राज्य सरकारों को प्रवासियों के लिए आश्रय स्थापित करने और उन्हें भोजन और पानी आदि उपलब्ध कराने के लिए एसडीआरएफ का उपयोग करने की अनुमति दी है । हम सचेत हैं, हम प्रवासियों के लिए भाग ले रहे हैं और उन्हें विभिन्न तरीकों से दे रहे हैं श्रमिकों के लिए न्यूनतम मजदूरी १८२ रुपये से बढ़ाकर २०२ रुपये प्रतिदिन कर दी गई । राज्यों और यूआईटी को प्रवासियों को नौकरी देने के लिए भी कहा गया है 12,000 एसएचजी ने कॉविड-19 अवधि के दौरान 3 करोड़ से अधिक मास्क और 12 लाख लीटर सैनिटाइजर तैयार किए हैं। पिछले दो महीनों के दौरान शहरी गरीबों के लिए 7,200 नए स्वयं सहायता समूह ों का गठन किया गया है हम सभी कामगारों को सार्वभौमिक रूप से न्यूनतम मजदूरी का अधिकार देना चाहते हैं। हम राष्ट्रीय स्तर पर मजदूरी दर का प्रस्ताव कर रहे हैं ताकि राज्यों में समान मजदूरी दर बनी रहे सरकार ने राज्य सरकारों को प्रवासियों के लिए आश्रय स्थापित करने के लिए एसडीआरएफ का उपयोग करने की अनुमति दी, हमने 13 मई तक 14.62 करोड़ व्यक्ति-दिवसों का कार्य पहले ही सृजित कर दिया है, जो पिछले मई की तुलना में 40-50% अधिक व्यक्ति नामांकित है ।

प्रवासी कामगार अपने राज्यों में वापस जा रहे हैं। अगले 2 महीनों तक सभी प्रवासियों को मुफ्त खाद्यान्न की आपूर्ति। गैर-कार्ड धारकों के लिए, उन्हें प्रति व्यक्ति 5 किलो गेहूं/चावल और प्रति परिवार 1 किलो चना/महीने 2 महीने के लिए दिया जाएगा । 8 करोड़ प्रवासियों को होगा फायदा – इस पर 3500 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। किसी भी राशन दुकान ों में सार्वजनिक डिट्रिब्यूशन राशन कार्ड का उपयोग राज्यों की परवाह किए बिना किया जा सकता है। एक राष्ट्र एक राशन कार्ड लागू किया जाएगा और हम 31 मार्च, 2021 तक इन कार्डों की राष्ट्रीय पोर्टेबिलिटी का 100% आश्वासन देते हैं। सरकार रियायती के माध्यम से पीपीपी मोड के तहत शहरों में सरकारी वित्त पोषित आवास को किफायती किराये के आवास परिसरों (एआरएचसी) में परिवर्तित करके जीवन यापन में आसानी प्रदान करने के लिए प्रवासी कामगारों/शहरी गरीबों के लिए किफायती किराये के आवास के लिए एक योजना शुरू करेगी। मुद्रा शिशु ऋण (50,000 रुपये या उससे कम) के तहत ऋण लेने वालों के लिए 2 प्रतिशत की ब्याज छूट सहायता 3 महीने की स्थगन अवधि समाप्त होने के बाद दी जाएगी।

इसका लाभ शिशु श्रेणी के तहत 3 करोड़ से अधिक लोगों को मिलेगा। स्ट्रीट वेंडर्स को आसानी से पहुंचाने के लिए सरकार एक महीने के भीतर एक विशेष योजना शुरू करेगी। स्ट्रीट वेंडर्स के लिए 5,000 करोड़ रुपये की स्पेशल क्रेडिट सुविधा मिलेगी। स्ट्रीट वेंडर्स के लिए 5,000 करोड़ रुपये की स्पेशल क्रेडिट सुविधा मिलेगी। उन्हें 10,000 रुपये की शुरुआती कार्यशील पूंजी प्रदान की जाएगी। सरकार मध्यम आय वर्ग (वार्षिक आय 6-18 लाख रुपये) के लिए क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी योजना (सीएलएसएस) को मार्च 2021 तक बढ़ादेेगी; 2020-21 के दौरान ढाई लाख मध्यम आय वाले परिवारों को फायदा होगा। 2 लाख करोड़ रुपये रियायती ऋण शुरू किया जाएगा जिससे ढाई करोड़ किसानों को लाभ होगा। लघु, सीमांत किसानों को नाबार्ड के माध्यम से 30,000 करोड़ रुपये अतिरिक्त आपातकालीन कार्यशील पूंजी कोष प्रदान किया जाएगा। subscribe thegreenhopes.com for latest hindi news, news in hindi, hindi news today.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here