7 दिन में 100% रिकवरी’: रामदेव ने कोविड-19 के इलाज के लिए पंतजलि की आयुर्वेदिक दवा ‘कोरोनिल एंड स्वसारी’ लॉन्च किया

0
68
7 दिन में 100% रिकवरी': रामदेव ने कोविड-19 के इलाज के लिए पंतजलि की आयुर्वेदिक दवा 'कोरोनिल एंड स्वसारी' लॉन्च किया
7 दिन में 100% रिकवरी': रामदेव ने कोविड-19 के इलाज के लिए पंतजलि की आयुर्वेदिक दवा 'कोरोनिल एंड स्वसारी' लॉन्च किया

Hindi news today, baba ramdev coronavirus medicine, Coronavirus vaccine, coronavirus medicine, baba ramdev coronavirus medicine, patanjali coronavirus medicine, baba ramdev launched coronavirus vaccine, patanjali launched coronavirus vaccine, coronavirus vaccine made in india, patanjali coronavirus vaccine, baba ramdev coronavirus vaccine, hindi news for today, baba ramdev ka coronavirus ka dabai, patanjali ka coronavirus ka dabai.

रामदेव ने कहा कि यह दवा चिकित्सकीय रूप से नियंत्रित होती है और अनुसंधान, साक्ष्य और परीक्षण के आधार पर होती है, जिसके बाद यह पाया गया है कि दवा तीन दिनों में ६९% मरीजों और 7 दिनों में १००% मरीजों का इलाज करती है । योग गुरु बाबा रामदेव ने मंगलवार को कहा कि पतंजलि रिसर्च सेंटर ने उग्र कोरोनावायरस रोग (COVID-19) महामारी फैलने के इलाज के लिए पहली आयुर्वेदिक साक्ष्य आधारित दवा ‘ कोरोनिल और स्वासारी ‘ तैयार की है । उन्होंने कहा कि दवा चिकित्सकीय रूप से नियंत्रित होती है और अनुसंधान, साक्ष्य और परीक्षण के आधार पर होती है, जिसके बाद यह पाया गया है कि दवा तीन दिनों में 69% मरीजों और 7 दिनों में 100% मरीजों का इलाज करती है ।योग गुरु रामदेव ने हरिद्वार के पतंजलि योगपीठ में संवाददाता सम्मेलन में कहा, हमें यह घोषणा करते हुए गर्व हो रहा है कि पहले आयुर्वेदिक, चिकित्सकीय नियंत्रित परीक्षण आधारित साक्ष्य और अनुसंधान आधारित दवा पतंजलि अनुसंधान केंद्र और एनआईएमएस के संयुक्त प्रयासों से तैयारकी गई है।

7 दिन में 100% रिकवरी': रामदेव ने कोविड-19 के इलाज के लिए पंतजलि की आयुर्वेदिक दवा 'कोरोनिल एंड स्वसारी' लॉन्च किया

“हम आज COVID दवाओं कोरोनिल और स्वासारी शुरू कर रहे हैं । हमने इनमें से दो परीक्षण किए, पहला नैदानिक नियंत्रित अध्ययन, जो कई अन्य शहरों के बीच दिल्ली, अहमदाबाद में हुआ। इसके तहत 280 मरीजों को शामिल किया गया और 100% लोग बरामद हुए। हम कोरोना और इस में अपनी जटिलताओं को नियंत्रित करने में सक्षम थे । उन्होंने कहा कि इसके बाद सभी महत्वपूर्ण नैदानिक नियंत्रण परीक्षण आयोजित किया गया ।उन्होंने निम्स विश्वविद्यालय जयपुर के राष्ट्रीय आयुर्विज्ञान संस्थान के निदेशक डॉ बलबीर सिंह तोमर व अन्य सभी चिकित्सकों व वैज्ञानिकों का आभार जताते हुए उन्होंने दवा बनाने में मदद के लिए सभी चिकित्सकों व वैज्ञानिकों का आभार जताया।

“निम्स की मदद से जयपुर हमने 95 मरीजों पर क्लीनिकल कंट्रोल स्टडी कराई। उन्होंने कहा कि सबसे बड़ी बात यह है कि तीन दिनों के भीतर 65% मरीज सकारात्मक (मामलों) से नकारात्मक हो गए और सात दिनों के भीतर उनमें से 100०% नकारात्मक हो गए ।उन्होंने यह भी कहा कि मरीजों पर दवा का परीक्षण करने के लिए आवश्यक मंजूरी सक्षम अधिकारियों से ली गई थी ।इस शुभारंभ के मौके पर पतंजलि के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) आचार्य बालकृष्ण भी मौजूद थे, जिनके साथ दवा तैयार करने में हिस्सा लिया था।इससे पहले उन्होंने ‘ पहले और सबसे महत्वपूर्ण साक्ष्य आधारित आयुर्वेदिक चिकित्सा के गौरवान्वित प्रक्षेपण ‘ के बारे में ट्वीट किया था । subscribe thegreenhopes.com for hindi news, hindi news for today, hindi news of today.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here